samacharvideo: सपा में चल रहा अंतर्कलह आखिरकार शांत हो गया । इसके लिए सपा सुप्रीमों (पूर्व) को अपने राजनीति की गाड़ी कमाई को धूल मिट्टी करना पड़ा साथ ही राजनीतिक जीवन पर काला कपड़ा भी डालना पड़ा है। यूपी के इस दंगल पर चुनाव आयोग ने सिकंजा कस कर सबको शांत कर दिया है।
यह भी पढ़े: ओवैसी के समर्थन में उतरे योगी आदित्यनाथ, इस मुद्दे पर योगी-ओवेसी के एक जैसे विचार !

चुनाव आयोग ने समाजवादी पार्टी का असली मुखिया अखिलेश यादव को बताया है साथ ही पार्टी का चुनाव चिन्ह साइकिल भी अखिलेश यादव को सौप दिया है। अब सभी मतभेदों पर विराम लग गया है और सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव बन गए है।
यह भी पढ़े: खास खबर, अब ATM से निकाल सकेंगे 10,000 रुपये प्रतिदिन !

आपको बता दे की पार्टी के अंदर चल रहे इस दंगल को शांत करने के लिए अखिलेश और मुलायम दोनों ही चुनाव आयोग पहुँचे थे। मुलायम की तरफ से दावा किया गया था कि समाजवादी पार्टी उनकी है और इसलिए साइकिल चुनाव उन्हें ही मिलनी चाहिए। वहीं अखिलेश की तरफ से कहा गया था कि पार्टी के वरिष्ठ नेता और 200 से ज्यादा विधायक उनके समर्थन में हैं, इसलिए साइकिल चुनाव चिह्न उन्हें ही मिलना चाहिए। उन्होंने इन विधायकों और नेताओं की भी पूरी लिस्ट चुनाव आयोग को सौंपी थी।
यह भी पढ़े: सर्वे से खुलासा, केजरीवाल से ज्यादा मोदी सरकार से खुश है दिल्ली की जनता !

ये दोनों नेता दो दिन पहले चुनाव आयोग पहुचे थे। EC ने पूरी जांच पड़ताल के बाद अपना फैसला अखिलेश के पक्ष में सुनाया। फैसले के बाद जहां अखिलेश समर्थक जश्न मनाने में व्यस्त रहे तो वहीँ मुलायम सिंह खुद अखिलेश यादव को बधाई देने उनके घर पहुचें।

(इसी तरह की अन्य बड़ी खबरों के लिए आप samacharvideo से facebook और twitter पर भी जुड़ सकते है)

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *