samacharvideo: अहिंसा और अपने आदर्शों  के लिए ही महात्मा गांधी को जाना जाता है। आज महात्मा गांधी को दुनिया एक अद्वितीय महान शख्सियत के रूप में जसन्ति है। गांधी जी भारत ही नही, पुरे विश्व में एक आदर्श है। वहीँ गांधी जी को मजबूरी का नाम भी कहा जाता है।
गांधी जी के जीवन से जुड़ी हर बात आप जानते ही होंगे। पर आज हम आपको महात्मा गांधी के जीवन से जुड़ें उन पहलुओं से रूबरू कराएंगे, जिन्हें शायद ही आप आज से पहले जानते होंगे…

  •  महात्मा गांधी मां का जन्मदिवस संयुक्त राष्ट्र विश्व अहिंसा दिवस के रूप में मनाता है जो कि 2 अक्टूबर को मनाया जाता है।
  • महात्मा गांधी अपने जीवन में कभी भी एयरप्लेन में नहीं बैठे।
  • महात्मा गांधी अपने जीवन में कभी अमेरिका नहीं गए। 
  •  महात्मा गांधी को महात्मा की उपाधि रविंद्रनाथ टेगौर निधि थी
  • गांधी को राष्ट्रपिता सबसे पहले सुभाष चंद्र बोस ने कहा था।
  • सन 1930 में अमेरिका की मशहूर टाइम मैगजीन में मैन ऑफ द ईयर का आवाज भी दिया था। 
  • महात्मा गांधी को 5 बार नोबेल पुरस्कार के लिए नॉमिनेट किया गया उन्हें 1948 में नोबेल पुरस्कार दिया जाना था पर उससे पहले उनकी मृत्यु हो गई।
  • अपनी मृत्यु से 1 दिन पहले महात्मा गांधी ने कांग्रेस को भंग करने का विचार बना लिया था।
  •  महात्मा गांधी की अंतिम यात्रा सबसे बड़ी अंतिम यात्रा को सबसे बड़ी अंतिम यात्रा के रूप में जाना जाता है इस में करीब 1000000 लोग यात्रा में शामिल हुए थे वहीं 15 लाख लोग रास्ते में खड़े थे।
  • गांधी जी की अंतिम यात्रा 8 किलोमीटर तक चली थी।
  • सन 1931 की यात्रा के समय गाँधी जी ने पहली बार रेडियो पर अमेरिका के लिए भाषण दिए थे। और रेडियो पर उनके पहले शब्द थे “क्या मुझे इसके अन्दर बोलना पड़ेगा ।”
  • गाँधी जी को अन्तिम संस्कार के लिए 1948 में जिस वाहन से ले जाया गया था उसी वाहन से मदर टेरेसा को 1997 में ले जाया गया था।
  • गाँधी जी की आत्मकथा “सत्य के साथ मेरा प्रयोग” जो 1927 में प्रकाशित हुई थी इस पुस्तक को गाँधी जी ने गुजरती भाषा में लिखा था।
  • गांधी जी को सम्मान देने के लिए एप्पल के संस्थापक स्टीव जॉब्स गोल चश्मा पहनते थे।
  • गांधी जी नकली दांत लगाते थे, जिसे वह अपने कपड़े में रखते थे।
  • गांधी जी के नाम से भारत में 53 मुख्य मार्ग हैं जबकि विदेशों में 48 सड़के हैं।
  • गाँधी जी ने स्वाधीनता आन्दोलन में अपने जीवन के 6 साल 5 महीने जेल में बिताये थे।
  • गाँधी जी को 1999 में आइंस्टीन के बाद उन्नीसवीं सदी का दूसरा सवसे प्रभावशाली व्यक्ति चुना गया था।
  • आइंस्टीन, हिटलर, टॉलस्टॉय जैसी कई विख्यात हस्तियों से गांधी ने मुलाकात की थी।
  • दक्षिण अफ्रीका में वकालत में 15000 डॉलर सालाना आमदनी तक होने लगी थी।
  • गांधी जी स्वदेशी के बहुत कट्टर समर्थक थे, किन्तु उनका पहला डाक टिकट स्विट्जरलैंड में छपवाया गया था।
  • स्वतंत्रता दिवस की रात गांधी जी नेहरू जी का भाषण सुनने के लिए मौजूद नहीं थे, उस दिन गांधी जी उपवास पर थे।
  • अंतिम समय में गांधीजी के मुंह से निकला, “राम…..रा…..म.”।
  • अपने पूरे जीवन में गांधी जी ने कभी कोई राजनीति पद नहीं लिया।
  •  अंग्रेज सरकार का गांधी ने विरोध किया उसी अंग्रेज सरकार ने गांधी की मृत्यु के 21 साल बाद गांधी के सम्मान में स्टाम्प जारी किये।

    By admin

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *