samacharvideo: 8 नवम्बर 2016, इस तारीख को कौन भूल सकता है ! खैर फिर भी बता देते है कि हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस दिन एक बड़ा फैसला लिया था, जिसमे सभी 500 और 1000 के पुराने नोटों को बंद कर दिया गया था। भ्रष्टाचार और कालेधन पर रोक लगाने के लिए ये बड़ा फैसला लिया गया था।

नोटबंदी से जहां एक तरफ कालेधन और भ्रष्टाचार पर कुछ हद तक कमी आयी तो वहीँ कुछ दुर्लभ परिणाम भी सामने आ रहे है। इसमें सबसे बड़ा फायदा ये हुआ की आतंकवाद, हिंसा और नक्सलवाद में लगभग 60 प्रतिशत से अधिक की कमी आ गयी है।

इकोनॉमिक्स टाइम्स के अनुसार इस बात की जानकारी, नोटबंदी के असर की जाँच करने वाली जाँच एजेंसी ने केंद्र सरकार से साझा की है। 

ऐजेंसी के अनुसार, घाटी के साथ साथ देश के अन्य हिस्सों में नोटबंदी के बाद हिंसा और आतंकवाद के मामलों में 60 प्रतिशत की कमी देखी गयी है। एजेंसी के एक अफसर के अनुसार, ‘पाकिस्तान, क्वेटा में भारतीय नकली नोट छापने का सरकारी प्रेस चला रहा था, पर नोटबंदी के चलते उसे यह कारखाना बन्द करना पड़ा।’ नोटबंदी के बाद पकिस्तान में स्थित कई नक़ली नोट छापने के कारखाने बंद होने का दावा किया जा रहा है। 
नोटबंदी के बाद से ही विदेशों से आने वाले हवाले के पैसों में भी 50 प्रतिशत की कमी आंकी जा रही है। 

(इसी तरह की अन्य बड़ी खबरों के लिए आप samacharvideo से facebook और twitter से भी जुड़ सकते है)

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *