samacharvideo: देश में 8 नवम्बर के बाद से लोगों को खरीददारी में बड़ी परेशानी उठानी पड़ रही है। हर तरफ cash की दिक्कत आ रही है। नोटबंदी के कारण यह समस्या खड़ी हुई थी जो की अब पटरी पर आ रही है। 
केंद्र सरकार इस कड़ी में एक और बड़ा कदम उठाने की फ़िराक में है। यह बड़ा कदम cashless हो सकता है। इसका मतलब सभी क्रय-विक्रय, ATM कार्ड Credit कार्ड और e-banking के जरिये होंगे। 
इस कैशलेस की तरफ से रेलवे ने बड़ा कदम उठाया है। इसके अंतर्गत रेलवे ने अपने 140 टिकेट काउंटर पर कार्ड स्वाइप मशीन लगायी है। इससे नोटबंदी के कारण जो कैश की दिक्कत आयी है, उसमे जरूर राहत मिलेगी। पिछले दो दिनों में दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, चेन्नई सहित बड़े शहरों में 140 पीओएस मशीनें लगाई गई हैं। इनकी मदद से नकदी की किल्लत से जूझ रहे यात्री क्रेडिट और डेबिट कार्ड से रेल टिकट का भुगतान कर सकेंगे।
जानकारी के अनुसार प्रथम चरण में सभी बड़े महानगरों में यह मशीन लगायी जायेगी। इसके बाद दूसरे छोटे स्टेशनों के टिकट काउंटर पर भी इन्हें लगाया जाएगा। रेल मंत्रालय के अनुसार state bank of india की ओर से 10,000 मशीनें लगायी जायेगी। फिलहाल 1 महीने में 1000 मशीनें लगाने का लक्ष्य तय किया गया है।
रेलवे इस संबंध में अन्य राष्ट्रीय बैंकों से भी संपर्क कर रहा है। ऐसा ही रहा तो रेलवे जल्द ही कैशलेस हो सकता है।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *