samacharvideo: इन दिनों सबसे चर्चा के विषयों में शामिल सबसे बड़ा विषय है अवैध बूचड़खानों पर रोक। उत्तरप्रदेश में योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के तुरंत बाद अवैध बूचड़खानों पर कड़ी कार्रवाई की गयी। परिणाम ये निकला की 15 दिनों में UP में  लगभग 300 अवैध कत्लखाने बंद हो गए। योगी सरकार ने इसके साथ ही अन्य राज्यों में स्थापित भाजपा सरकार को कड़ा तमाचा भी लगाया है। बात मध्यप्रदेश की करे तो इसका हाल बिलकुल उल्टा है।

 

 

मध्यप्रदेश में बीते 13 सालों से भाजपा की सरकार है और 13 साल से ही शिवराज सिंह चौहान मुख्यमंत्री भी है। पर इन 13 सालों में किसी भी तरह से शिवराज सरकार ने अवैध बूचड़खानों पर कार्रवाई नही की है। यही नही, पशुपालन विभाग को ही यह भी मालूम  नही है कि प्रदेश में कितने अवैध कत्लखाने हैं।

 

 

सूत्रों की माने तो पूरे मध्यप्रदेश में लगभग ढाई हजार कत्लखाने है। इन कत्लखानों में से अधिकतर कत्लखाने अवैध है, जिनमे प्रदेश सरकार की तरफ से जारी किये गए निर्देशों और मानकों का पालन नही किया जाता है। यही नही, MP में कई मीट शॉप वाले तक अपने स्तर पर कत्लखानों का सञ्चालन करते है।

 

जानकारी के अनुसार कुछ समय पहले एफएसएसएआई की ओर से कत्लखानों के लिए लाइसेंस अनिवार्य कर दिया गया था पर इसके बावजूद अधिकतर बूचड़खाने बिना लाइसेंस के संचालित हो रहे है।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *