samacharvideo:

‘दूसरों के गुणों को आत्मसात करो, अवगुणों को नही’

हम सही उदाहरणों को भले न जी पाएं लेकिन गलत उदाहरण को कभी आत्मसात नहीं करना चाहिए। देखिए मार्च की जाती हुई तारीख़ और अप्रैल की आती हुई तारीख़ मेरी ज़िंदगी में वैसे ही अपना प्रभाव छोड़ती है, जैसे पूर्णमासी का चंद्रमा समंदर पर। मैं बिल्कुल नहीं चाहता कि मैं ऐसी कोई कहानी आपको सुनाऊं जिसे सुन कर आपकी सुबह उदास हो जाए, लेकिन करूं तो क्या करूं। 

चार साल पहले 28 मार्च को होली थी। मैं उस दिन अपने भाई के साथ आख़िरी बार होली खेल रहा था। 

अहमदाबाद में खेली गई वो होली मेरी ज़िंदगी की आख़िरी होली थी। उसके अगले दिन हम दोनों भाई जुदा हो गए थे। उसके चार दिन बाद भाई के मरने की खबर आ गई थी। मैं सबकुछ कई-कई बार आपको सुना चुका हूं। ऐसा नहीं है कि फिर नहीं सुनाऊंगा, तारीख आएगी और मेरे होंठ मचल उठेंगे वही कहानी फिर से कहने के लिए।

कई लोग मुझसे पूछते हैं कि मैं बार-बार उन तारीखों को क्यों याद करता हूं। मैं बार-बार एक ही कहानी को क्यों साझा करता हूं। 

दरअसल मेरा एक मकसद है। मेरा मकसद है सही उदाहरणों से आप तक सही बात पहुंचाना। यह तो आप जानते ही हैं कि मस्तिष्क जिस चीज़ की कल्पना कर सकता है, उसे पा भी सकता है। मैंने भी पाया है। मैं सौ बार एक ही बात को सिर्फ इसलिए दुहराता हूं ताकि आप सोचने की कोशिश करें कि संजय सिन्हा नामक ये आदमी रोज़ सुबह-सुबह एक कहानी लेकर हमारे बीच क्यों चला आता है? क्या मिलता है उसे मुफ्त में कहानियां सुना कर? 

दरअसल मैं नहीं चाहता कि मैंने जो भुगता है, उसे आप भुगतें। और इसकी बहुत छोटी सी वज़ह है। मैं आप सबसे प्यार करता हूं। मैं अपने आसपास सभी से बहुत प्यार करता हूं। ठीक वैसे ही जैसे मुझे प्यार करने वाले एक व्यक्ति ने मुझे अपने पास बिठा कर एक बार समझाने की कोशिश की थी कि मैं अपने छोटे भाई को सिगरेट पीने से मना करूं। उसने मुझसे शिकायत की थी कि मेरा छोटा भाई बहुत अधिक सिगरेट पीने लगा है। लेकिन मैंने उस दिन एक गलत उदाहरण को अपना आदर्श बना कर समझाने वाले को चुप करा दिया था। मैंने कहा था कि फिल्म स्टार शाहरुख खान भी तो बहुत सिगरेट पीते हैं। मुझे याद है कि मैंने पहले भी आपको ये कहानी सुनाई है कि समझाने वाले ने मुझसे कहा था कि शाहरुख खान को अगर कुछ हो गया तो वो आपके लिए सिर्फ एक खबर भर होगी, लेकिन भाई को कुछ हो गया तो आप खुद को जीवन भर माफ नहीं कर पाएंगे।

मैं चुप रह गया था। मैंने चार साल पहले 28 मार्च को होली की रात अपने भाई से ये बात कही थी कि तुम सिगरेट कम कर दो। वो सचमुच हर मिनट एक सिगरेट पी रहा था। पर तब तक देर हो चुकी थी। 

भाई के निधन के बाद मैं काफी उदासी में चला गया। पर जब मैं उससे निकला तो मैंने कई लोगों को समझाया कि सिगरेट नहीं पीनी चाहिए। मेरा भाई नहीं बचा, मुझे लगा कि किसी का भाई बच जाए, यही मेरे लिए बड़ी बात होगी। मैंने मकसद बनाया कि रोज़ एक कहानी लिखूंगा, रोज़ आपको अपने अनुभव के संसार में ले चलूंगा, ताकि आप संजय की आंखों से ज़िंदगी के सत्य को देख पाएं, समझ पाएं।

पिछले दिनों अपने एक साथी को मैंने ऐसे ही शराब पीने से रोका था। मैंने उन्हें समझाया था कि अधिक शराब पीने से स्वास्थ्य खराब हो जाता है। पता नहीं कैसे उसने मेरे सामने उस फिल्मी सितारों का उदाहरण रख दिया कि फलां तो इतनी शराब पीता है, उसे क्या हुआ? 

मैं हतप्रभ था। मैं समझ रहा था कि एक बार फिर मेरे सामने गलत उदाहरण रख दिया गया है।  

मैंने मित्र को अपने भाई के सिगरेट प्रेम की कहानी और शाहरुख खान का उदाहरण समझाया। मेरा मित्र मेरी बात सुन कर चुप था। 

बहुत दिनों से मित्र दफ्तर नहीं आ रहा था। पता चला कि तबियत खराब है। लिवर ने काम करना बंद कर दिया है। कल बहुत हिम्मत करके मित्र से मिलने गया। उसे देखने के बाद से मैं गहरी उदासी में हूं। मेरे मित्र के हाथ-पांव एकदम पतले-पतले हो गए हैं, पेट बहुत फूल गया है। डॉक्टर ने कह दिया है कि शराब की एक बूंद भी अब ज़हर बन जाएगी। 

मेरा मित्र मेरा हमउम्र ही होगा। पर उसे देख कर मैं सिहर उठा। चार महीनों में वो हड्डियों का ढांचा बन गया है। वो बोल भी नहीं पा रहा था। बहुत मुश्किल से इतना ही कह पाया कि तुम सही कहते थे संजय, हमें गलत उदाहरणों को आत्मसात नहीं करना चाहिए। 

मैं कई कहानियों के माध्यम से आपसे हर बार सिर्फ इतना ही कहना चाहता हूं कि आप खुद से प्रेम करें। खुद का सम्मान करें। अगर आप खुद से प्रेम करेंगे, तभी लोग आपसे भी प्रेम करेंगे। 

मैं जानबूझ कर बहुत सी बातों को लिख-लिख कर आज मिटाता चला गया हूं। पर इतना फिर भी दुहराना चाहूंगा कि अपनी जिंदगी में दूसरों के गुणों को आत्मसात करें, अवगुणों को नहीं। फिल्मी सितारे बहुत मेहनती होते हैं, उनसे ये गुण भी सीख सकते हैं, बजाय इसके कि हम उनके अवगुणों को सीखें।

Sanjay Sinha

#ssfbFamily

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *