samacharvideo: राजनीति में इस वक़्त एक नया मामला सामने आया है जिसमे केंद्र समेत सभी दल एक साथ खुद चुके है। यह मामला है गुरमेहर कौर का। कौर ने अपने वीडियो में कहा था कि, उसके पिता की मौत कारगिल युद्ध में हुयी थी। पर इस मामले पर जांच के बाद जो रिपोर्ट और आर्मी के रिकॉर्ड सामने आये है, वह कुछ और ही इशारा कर रही है।
यह भी पढ़े: आखिर कौन है ‘गुरमेहर कौर’, जिसके नाम पर आज पुरे इंटरनेट और देश की राजनीति में खलबली मची हुई है !

यह भी पढ़े: राष्ट्रपति का बड़ा बयान, ‘असहिष्णु भारतीयों के लिए भारत में कोई जगह नह !’

यह भी पढ़े: RSS नेता का कम्यूनिस्टो पर वार, कहा -‘क्या गोधरा भूल गए?’
मीडिया रिपोर्ट्स पर नजर डाले तो पता लगता है कि, गुरमेहर कौर के पिता कैप्टन मनदीप सिंह सन 1991 में 49 आर्मी एयर डिफेंस रेजिमेंट में शामिल हुए थे। वहीँ जिस वर्ष  कारगिल का युद्ध हुआ था उस वर्ष वे राष्ट्रीय राइफल्स के सेक्टर 7 में पोस्टेड थे। साथ ही वे एक आतंकविरोधी टीम का हिस्सा भी थे, जिसका नाम ‘रक्षक’ था।

रिकार्ड्स पर प्रकाश डालने पर ज्ञात होता है कि, कैप्टन मनदीप सिंह 6 अगस्त 1999 को जम्मू कश्मीर में एक आतंकी हमले में शहीद हुए थे। यह हमला आतंकियों ने राष्ट्रीय राइफल्स के केम्प पर किया था जिसमे 6 और जवान भी शहीद हुए थे। आतंकियों ने हमला रात 1 बजकर 15 मिनट पर किया था, इसमें कैप्टन मनदीप सिंह कमांडर थे, उन्हें बाएं कंधे पर गोली लगी थी, जिसकी वजह से वे मौके पर ही शहीद हो गए थे।

आपको बता दे कि, कारगिल का युद्ध 3 मई 1999 को शुरू हुआ था जो की 25 जुलाई 1999 को थमा था। वहीँ आर्मी रिकार्ड्स की माने तो गुरमेहर के पिता की मौत 6 अगस्त 1999 में हुई थी। 

ramdas college, captain mandeep singh, gurmehar kour, jnu, intolerance, hindi news, hindi stories, samacharvideo, political news, delhi news, ramdas college incident

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *