samacharvideo:  राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने मध्यप्रदेश में अपना प्रभाव बढ़ाने के लिए हिन्दू सम्मलेन का आयोजन किया है, जिसमें लगभग डेढ़ लाख की संख्या में संघ के कार्यकर्ता, बजरंग दल के कार्यकर्ता और सामान्य लोग सम्मिलित हुए।

यह भी पढ़े: 28 फरवरी से पहले कर ले बैंक का यह काम, नही तो अकाउंट हो जाएगा बंद !

 

यह भी पढ़े: जियो को करो bye-bye, क्योकि ये कंपनी दे रही है 5 साल तक फ्री 4G डाटा और कालिंग !

 

यह भी पढ़े: आधार कार्ड से जुड़ी बड़ी खबर, अभी पढ़े नही तो बाद नही तो बाद मे पछतायेगें !

यह सम्मेलन मध्यप्रदेश के बैतूल में बुधवार 8 फरवरी को आयोजित किया गया। इस सम्मलेन में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक व् प्रमुख श्री मोहन भागवत भी सम्मिलित हुए। संघ के सह संघ कार्यवाहक श्री सुरेश सोनी जी, सतपाल महाराज भी इस सम्मलेन का हिस्सा बने। सम्मेलन में मध्यप्रदेश व् अन्य प्रदेशों के हजारों लोग सम्मिलित हुए तो वहीँ संघ के कई राष्ट्रीय स्तर के अधिकारी भी मौजूद रहे। 

संघ प्रमुख ने इस मौके पर कहा कि,  हिंदुस्तान में रहने वाला हर व्यक्ति हिन्दू है। उन्होंने कहा कि, हमारा समाज हिन्दू है तो उसमें एकता होनी चाहिए। श्री भागवत ने कहा कि, हमे जाती बोली भाषा को भूल कर एक हो जाना चाहिए। हम सब एक है। हम सब भारतीय है। हमारी भाषा अलग है तो क्या हुआ, हृदय की भाषा तो एक ही होती है।

संघ प्रमुख ने कहा कि, भारत को विश्व गुरु बनाने के लिए हिन्दू ही जवाबदेह है। श्री भागवत ने कहा कि दुनिया कई तरह के दुष्टों से भरी है। जो दुर्बलों पर अत्याचार करती है। इसलिए हमें दुर्बल नही रहना है, हम सबको एक होना है।

आपको बता दे कि मोहन भागवत सम्मेलन में पहुचने से पहले बैतूल स्थित उस जेल में भी गये जहां पर संघ के द्वितीय सरसंघचालक गुरु गोलवलकर को कैद किया गया था।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *