samacharvideo: होली का त्यौहार मतलब गुलाल, रंग, ठंडाई, मस्ती… और भी बहुत कुछ ! होली की बात करते ही हमे अपना बचपना याद आ जाता है तो वहीँ पुराने दोस्तों और रिश्तेदारों से मिलने का मौका भी मिलता है। घर, मोहल्ले और कॉलोनी का माहौल देखने लायक होता है। और हां, इसी दिन तो हवन कुंड, मस्तो का झुण्ड अपने पूरे सबाब पर निकलता है। कोई दोस्त घर में छुपा बैठा है, और रंगों से डर रहा है तो सोचों उनकी तो सामत ही आ गयी। इसी तरह होली के साथ हमारी कई यादें जुड़ीं हुयी है तो साथ ही हर होली पर न भूलने वाले पल भी इकट्ठा होते है।

यह भी पढ़े: जानिये, आखिर क्यों किया जाता है होलिका दहन, क्यों मनायी जाती है होली !




यह भी पढ़े: गलती से भी होली के दिन इन कामों को न करें, इस तरह मनाये होली !

तो आइये जानते है होली के इस पावन पर्व पर होली से जुड़े रोचक और अनसुने तथ्य:….

  • होली मनाने का जिक्र ईसा के 300 वर्ष पूर्व से है।
  • होली को हर साल फाल्गुन मास की पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है।
  • होली मूलतः दो दिन का त्यौहार होता है। पहले दिन होलिका दहन और दूसरे दिन धुरेंडी, जिसमे सभी लोग एक दुसरं को रंगों से सराबोर कर देते है।
  • होली को कई नामों से जाना जाता है, जैसे- फाल्गुनी,  फगुआ, धुलेंडी, दोल, इत्यादि।
  • होली की शुरुआत वसंत पंचमी से मानी जाती है। इसी दिन पहली बार गुलाल उड़ाया जाता है तो इसी दिन से फाल्गुन के फाग गीत भी शुरू हो जाते है।
  • होली को सभी धर्मों के लोग मनाते है।
  • होली एक मात्र ऐसा त्यौहार है जिसे पूरा विश्व एक साथ मनाता है, ऐसा इसलिए की भारत के लिए विदेशों में भी है, वे इस त्यौहार को विदेशों में मनाते है जिससे वहां के लोग भी इसका आनंद लेंव के लिए इसे मनाने लगे।
  • शाहजहाँ के ज़माने में होली को ईद-ए-गुलाबी या आब-ए-पाशी (रंगों की बौछार) कहा जाता था।
  • बादशाह अकबर भी जोधाबाई के साथ तथा जहाँगीर नूरजहाँ के साथ होली खेलते थे ।
  • भारत में व्रज, मथुरा, वृन्दावन और बरसाने की लट्ठमार होली व श्रीनाथजी, काशी आदि की होली बहुत ही प्रसिद्ध है ।
  • होली ही एकमात्र ऐसा त्यौहार हैं जो भारत के सभी 29 राज्यों में मनाया जाता हैं।
  • होली के दिन ही महाऋषि मनु का भी जन्म हुआ था।
  • आज के दिन ही भगवान श्रीकृष्ण ने इस दिन पूतना नामक राक्षसी का वध किया था।
  • आज के दिन सभी लोग अपने दुश्मनों कप भी गले लगाकर गुलाल और रंग लगाते है अपने सारे बैर मिटाते है।

      तो दोस्तों, आप भी धूमधाम से गुलाल के साथ होली मनाइये। खुशियां बाँटिये, अपनों से मिलिए, उनका आशीर्वाद लीजिये और इस होली को यादगार बनाइये। हां, एक बात और…. होली पर केमिकल रंगों का प्रयोग न करे, सूखे रंगों जैसे गुलाल इत्यादि से होली खेले, पानी से होली न खेले, ज्यादा से ज्यादा पानी बचाने की कोशिश करे और जानवरों पर रंग न लगाए। 

      आपको और आपके परिवार को  samacharvideo की ओर से होली की ढेर सारी शुभकामनाएं…

      By admin

      Leave a Reply

      Your email address will not be published. Required fields are marked *