samacharvideo:  फिल्म इंडस्ट्री के सुपरस्टार और साउथ  इंडिया के गॉड फॉदर ‘रजनीकांत’ का आज जन्मदिन है। वे आज 66 साल के हो गए है। रजनीकांत को देश का हर बच्चा जानता है तो वहीँ इन्हें नामुमकिन को मुमकिन करने वाला सितारा भी कहा जाता है। इतनी उम्र होने के बावजूद भी आज रजनीकांत एक के बाद एक फिल्म में अपना जलवा बिखेर रहे है।
आइये जानते है, रजनीकांत से जुड़ी कुछ खास बातों को, जिनको जानकर आप जरूर रजनीकांत को और करीब से समझ पाएंगे-
जन्म और शुरूआती दौर:

  • रजनीकांत का जन्म 12 दिसंबर, 1950 को बेंगलुरू में हुआ। 
  • उनके बचपन का नाम शिवाजी राव गायकवाड़ है। 
  • उनके पिता रामोजी राव गायकवाड़ एक हवलदार थे।
  • मां जीजाबाई की मौत के बाद चार भाई-बहनों में सबसे छोटे रजनीकांत को अहसास हुआ कि घर की माली हालत ठीक नहीं है।
  • बाद में उन्होंने परिवार को सहारा देने के लिए कुली का भी काम किया।
  • रजनीकांत ने युवावस्था में ही “कारपेंटर” और फिर  वे “बी.टी.एस में बस कंडक्टर” का काम कर चुके है।
  • एक कंडक्टर के तौर पर भी उनका अंदाज़ किसी स्टार से कम नहीं था। वो अपनी अलग तरह से टिकट काटने और सीटी मारने की शैली को लेकर यात्रियों और दुसरे बस कंडक्टरों के बीच फेमस थे। और आज भी उनका हर स्टाइल बहुत फेमस है।

    ‘दौर-ए-सिनेमा’ और कैरियर: 

    • फिल्म और एक्टिंग में रूचि के चलते रजनीकांत ने अद्यार फिल्म इंस्टिट्यूट में दाखिला लेकर डिप्लोमा प्राप्त किया।
    • मशहूर फिल्म निर्देशक के. बालाचंदर की नज़र एक नाटक के दौरान रजनीकांत पर पड़ी और वो रजनीकांत से इतना प्रभावित हुए कि वहीँ उन्हें अपनी फिल्म में एक चरित्र निभाने का प्रस्ताव दे डाला| यही से उनके करियर की शुरुआत थी।
    • रजनीकांत की पहली फिल्म का नाम “अपूर्व रागांगल” था।
    • रजनीकांत पहले विलेन के किरदार करते थे।
    • के. बालाचंदर को रजनीकांत अपना गुरु मानते हैं।
    • एल.पी मुथुरामन की फिल्म ‘चिलकम्मा चेप्पिंडी’में पहली बार रजनीकांत को लीड रोल मिला।

      सफ़र उड़ान भरने और सुपरस्टार बनने का:

      • पहली लीड फिल्म ‘चिल्काम्मा चेप्पीड़ी’ के बाद रजनीकांत ने पीछे मुड़कर नही देखा।
      • बॉलीवुड में भी उन्होंने ‘मेरी अदालत’, ‘जान जॉनी जनार्दन’, ‘भगवान दादा’, ‘दोस्ती दुश्मनी’, ‘इंसाफ कौन करेगा’, ‘असली नकली’, ‘हम’, ‘खून का कर्ज’, ‘क्रांतिकारी’, ‘अंधा कानून’, ‘चालबाज’, ‘इंसानियत का देवता’ जैसी हिंदी फिल्मों से एक खास मुकाम बनाया है।
      • रजनीकांत ने अन्य देशों की फिल्मों में भी काम किया है, जिनमें अमेरिका की फिल्में भी शामिल हैं। 
      • “मुथु” नामक फिल्म तमील की पहली फिल्म थी जो जापान में दिखाई गई थी उस फिल्म के स्टार भी रजनीकांत ही थे।
      • रजनीकांत मराठी फैमिली से ताल्लुक रखते है लेकिन उन्होंने एक भी मराठी फिल्म नहीं बनाई है।
      • रजनीकांत की पहली सफल फिल्म ‘बिल्ला’ थी जो की अमिताभ बच्चन की फिल्म ‘डॉन’ की रीमेक थी।
      • 2007 में रजनीकांत की सुपरहिट हॉरर फिल्म ‘चंद्रमुखी’ तुर्किश और जर्मन भाषा में भी डब हुई थी। इस फिल्म ने विदेशो में भी धमाल मचाया था।

        कुछ बातें, जो रजनीकांत को औरों से करती है अलग:

        • आपको शायद ही पता होंगा की रजनीकांत एक्टर के साथ-साथ प्रोड्यूसर और स्क्रीनराइटर भी है।
        • रजनीकांत को क्रिकेट, फुटबॉल और बास्केटबॉल बहुत पसंद है आपने उन्हें कई बार स्टेडियम में दर्शक के तौर पर भी देखा होंगा।
        • रजनीकांत और कमल हसन की जोड़ी बहुत लोकप्रिय हुई दोनों अब तक 18 फिल्मों  में एक साथ काम कर चुके है ।
        • आप यकीन नहीं करेंगे लेकिन रजनीकांत की एक फिल्म “बाबा” जब फ्लॉप हुई थी तब रजनी ने प्रोड्यूसर को उन पैसो का पूरा भुगतान किया था।
        • रजनीकांत बहुत सीधे इंसान है वे दूसरे सफल लोगों से विपरीत असल जिंदगी में धोती-कुर्ता पहनना ही पसंद करते है। उन्हें अपना गंजा सर भी छुपाना अच्छा नहीं लगता है।
        • दक्षिण भारत में उनके नाम से उनके प्रशंशकों ने एक मंदिर भी बनाया है|
        • रजनीकांत असल ज़िन्दगी में बहुत दयालु है इतने की उनके पास कोई भी व्यक्ति मदद मांगने आता है वे उसे खाली हाथ नहीं भेजते। शायद यही वजह है कि वह साउथ के गॉड फादर है।

          अवार्ड्स और सम्मान:

          • वर्ष 2014 में रजनीकांत छह तमिलनाडु स्टेट फिल्म अवार्ड्स से नवाजे गए, जिनमें से चार सर्वश्रेष्ठ अभिनेता और दो स्पेशल अवार्ड्स फॉर बेस्ट एक्टर के लिए मिले। 
          • साल 2000 में उन्हें पद्म भूषण से सम्मानित किया गया। 
          • 45वें इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ इंडिया (2014) में रजनीकांत को सेंटेनरी अवॉर्ड फॉर इंडियन फिल्म पर्सनेल्टिी ऑफ द ईयर से सम्मानित किया गया।
          • साल 2016 में पद्म विभूषण से हुए सम्मानित।
          • इसके साथ ही अनेक तरह के अवार्ड्स और सम्मान से रजनीकांत को नवाजा जा चूका है।
          • रजनीकांत के प्रशंसक चाहते है कि उन्हें भारत का सर्वोच्च राष्ट्रीय सम्मान ‘भारत रत्न’ मिले।

          By admin

          Leave a Reply

          Your email address will not be published. Required fields are marked *