मध्य प्रदेश सरकार –

मध्य प्रदेश सरकार के राज्यपाल लालजी टंडन , मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के सात बैठक में ऐलान किया | कि बची हुई स्नातक और स्नातकोत्तर की परीक्षाएं 29 जून से 31 जुलाई के बीच होगी |

वर्तमान में कोरोना के संक्रमण की वजह से सारी परीक्षाएं मई-जून मेंहोनी थी | किंतु संपूर्ण लोकडाउन होने की वजह से परीक्षाएं नहीं हो पाई |

तो इस बात पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मध्यप्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन के साथ बैठक में यह फैसला लिया कि बची हुई , परीक्षाएं 29 जून से 31 जुलाई के बीच होगी संपूर्ण के संकट के चलते हुए सारी परीक्षाओं को लंबित कर दिया गया था |

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 23 मार्च को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी उसके बाद उनके मंत्रिमंडल का गठन नहीं हो पाया था जिसकी वजह से यह अभी तक फैसला नहीं लिया गया था |

कि अंतिम वर्ष की परीक्षा कब ली जाए कोरोना संकट के चलते हुए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए एग्जाम लेना है और कई जगह हो और छात्र और छात्राएं गांव से शहर पढ़ने जाते हैं |

जो अभी लॉन्डन होने की वजह से कई छात्र अपने अपने होमटाउन गांव को आ गए हैं इस बात को ध्यान में रखते हुए यह निर्णय लिया गया कि 29 जून के बाद परीक्षाएं होगी |

कोरोना के नियम कोध्यान रखते हुए संपूर्ण विश्वविद्यालय और महाविद्यालय को अपनी निजी व्यवस्था के आधार पर छात्रों की परीक्षाएं लेनी होगी अभी कोई टाइम टेबल नहीं दिया गया है |

बस तारीख बताई गई है कि 29 जून से 31 जुलाई के बीच सारी परीक्षाएं ले ली जाएगी |

कोरोना के संकट के समय में आप सभी से भी यही उम्मीद है कि आप सभी अपने घर में रहे तथा जब अत्यधिक आवश्यक हो तब ही आप घर से बाहर निकले | और हमारे सभी कोरोना वारियर्स का सम्मान करें |

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *