samacharvideo: सबसे पहले आप सभी को Merry Christmas ! तो आज पूरे संसार में प्रभु यीशु का जन्मदिन मनाया जा रहा है, जी हां आज पूरे संसार में क्रिसमस मनाया जा रहा है। आज के दिन ही ईसाई धर्म के प्रणेता प्रभु यीशु का जन्म हुआ था। 

ऐसे हुआ यीशू का जन्म:

क्राइस्ट के जन्म को लेकर कुछ कथाये है। इसमें सबसे फ़ेमस और स्वीकार्य कथा के अनुसार प्रभु ने मैरी नामक एक कुंवारी लड़की के पास गैब्रियल नामक देवदूत भेजा। गैब्रियल ने मैरी को बताया कि वह प्रभु के पुत्र को जन्‍म देगी तथा बच्‍चे का नाम जीसस रखा जाएगा। व‍ह बड़ा होकर राजा बनेगा, तथा उसके राज्‍य की कोई सीमाएं नहीं होंगी। देवदूत गैब्रियल, जोसफ के पास भी गया और उसे बताया कि मैरी एक बच्‍चे को जन्‍म देगी। गैब्रियल ने जोसफ को सलाह दी कि वह मैरी की देखभाल करे और उसका परित्‍याग न करे. जिस रात को जीसस का जन्‍म हुआ, उस समय लागू नियमों के अनुसार अपने नाम पंजीकृत कराने के लिए मैरी और जोसफ बेथलेहेम जाने के लिए रास्‍ते में थे। उन्‍होंने एक अस्‍तबल में शरण ली, जहां मैरी ने आधी रात को जीसस को जन्‍म दिया तथा उसे एक नांद में लिटा दिया। इस प्रकार प्रभु के पुत्र जीसस का जन्‍म हुआ।

आइये जानते है क्रिसमस और यीशू से जुड़ीं अनसुनी और ख़ास बातों को:

  • क्रिसमस ईसाईयों का सबसे बड़ा त्यौहार है।
  • कुछ कैथोलिक देशों में इसे सेंट स्टीफेंस डे या फीस्ट ऑफ़ सेंट स्टीफेंस भी कहते हैं।
  • ब्रिटैन के साथ साथ अन्य राष्ट्रमंडल देशों में क्रिसमस के एक दिन बाद 26 दिसम्बर को बॉक्सिंग डे मनाया जाता है।
  • आर्मीनियाई अपोस्टोलिक चर्च 6 जनवरी को क्रिसमस मनाता है।
  • सेंट निकोलस को क्रिसमस का पिता माना जाता है।
  • दिसम्बर में क्रिसमस मनाया जाता है, और इस पुरे महीने को क्राइस्टमास के नाम से जाना जाता है।
  • क्राइस्टमास के बाद ही ईसाई नए वर्ष की शुरुआत होती है, जिसे हम सभी न्यू ईयर के रूप में मनाते है।
  • क्रिसमस शब्‍द का जन्‍म क्राईस्‍टेस माइसे अथवा ‘क्राइस्‍टस् मास’ शब्‍द से हुआ है।
  • पहली बार क्रिसमस रोम में तीन सौ छत्तीस ईस्वी में मनाया गया था।
  • ईसा मसीह को ‘शांति का राजकुमार’ के नाम से भी पुकारा जाता है।
  • सांता क्लाज़ का असली नाम सेंट बेनेडिक्‍ट है। 
  • पुरे विश्व में करीब डेढ़ सौ करोड़ लोग ईसाई धर्म को मानते है, पर इससे कही गुना अधिक लोग क्रिसमस मनाते है।
  • अफ्रीकी देश, न्यूज़ीलैंड, ऑस्ट्रेलिया तथा दक्षिण अमेरिका आदि में क्रिसमस गर्मी की छुट्टियों में मनाया जाता है। दरअसल इस वक़्त वहां पर गर्मी का मौसम होता है।

      यही नही, हर देश में क्रिसमस को लेकर अलग अलग मान्यताये है, और इसी आधार पर सभी जगह अलग अलग तरह से क्रिसमस सेलेब्रेशन किया जाता है। भारत की बात की जाए तो यहाँ बहुत ही शांति और शालीनता के साथ इस त्यौहार को मनाया जाता है। वहीँ पंजी और गोवा में इसे धीमा धड़ाके से मनाते देखा जा सकता है।

      (इसी तरह की अन्य खबरों और स्टोरीज़ के लिए आप यहाँ क्लिक करके storyadaa से facebook और twitter पर भी जुड़ सकते है)

      By admin

      Leave a Reply

      Your email address will not be published. Required fields are marked *