samacharvideo:

फिल्म: रईस

डायरेक्टर: राहुल ढोलकिया 

स्टार कास्ट: शाहरुख खान, माहिरा खान, नवाजुद्दीन सिद्दीकी,  अतुल कुलकर्णी, आर्यन बब्बर

अवधि: 2 घंटा 22 मिनट 

सर्टिफिकेट: U/A

रेटिंग: 3.5/5

 डायरेक्टर राहुल ढोलकिया और एक्टर शाहरुख़ खान ने पहली बार किसी फिल्म में एक साथ काम किया है इस बात से यह फिल्म और भी मायने रखती है। बात करें या एक्टिंग की या फिर डायरेक्शन की फिल्म काफी हद तक आपको ठीक लगे वही फिल्म के डायलॉग जरूर आपके पैसे वसूल कर पाएंगे।

आईए जानते हैं आखिर क्या क्या खास बातें है रईस में

कहानी:  

कहानी आपको 80 के दशक में ले जाती है रईस में सलमान खान ने रईस का रोल अदा किया है वहीं रईस की मां कबाड़ का धंधा करती है अपने घर के हालात देखते हुए रईस शराब के कारोबार में पड़ जाता है पुलिस और रेड से परेशान होकर रहीस देसी शराब की जगह विदेशी शराब का कारोबार शुरु करता है और वही तकरार होती है  एसपी से रोल नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने बखूबी निभाया हर मोड़ पर रईस और एसपी के बीच टकराव हो ही जाती है पर फिर भी रईस हर बार बचकर निकल जाता है आधी फिल्म के बाद कहानी में नया मोड़ आता है रईस का एक नया रूप देखने को मिलता है हर कहानी का क्लाइमेक्स और खास बातें जानने के लिए आपको फिल्म देखना ही होगा।

क्यों देखे रईस…

रईस में सलमान खान और नवाजुद्दीन सिद्दीकी की शानदार एक्टिंग आप को मोह लेगी यदि आप इन दोनों बड़े कलाकारों के फैन हैं तो यह फिल्म आपको देखना ही चाहिए फिल्म में सह कलाकारों ने भी अपनी अच्छी भूमिका निभाई है वह फिल्म के डायलॉग्स की बात की जाए तो रईस के डायलॉग पहले से ही हिट हो चुके हैं इसलिए जब भी यह डायलॉग आएंगे आप ताली बजाने के लिए मजबूर हो जाएंगे फिल्म की सिनेमेटोग्राफी और बैकग्राउंड के बारे में बात की जाए तो यह फिल्म आपको 80 के दशक का फिल देगी ।फिल्म के गाने भी एक अलग ही असर छोड़ते हैं वहीं फिल्म का गाना लैला मैं लैला आपको बांधे रखता है। नवाजुद्दीन सिद्दीकी की सीरियस एक्टिंग का जबरदस्त नमुना आपको देखने के लिए मिल सकता है।

 रईस की कमियां:

नवाजुद्दीन सिद्दीकी, शाहरुख खान जैसे बड़े स्टार होने के साथ भी इस फिल्म में कुछ कमियां नजर आती है। फिल्म का बजट काफी बड़ा बताया गया है लेकिन उस हिसाब से फिल्म में कुछ नयापन नहीं नहीं मिलता है। फिल्म में महिला खान इमोशन लिस्ट थी जिससे वह फिल्म से अलग टूटी हुई नजर आती है, फिल्म में रोमांस आपको मजा नही देगा। फिल्म का फर्स्ट ऑफ जितना रोचक था वही सेकंड हाफ में फिल्म खींचते नजर आए जिससे इसके क्लाइमेक्स पर बड़ा असर पड़ता है फिल्म की कहानी के हिसाब से सेकंड हाफ में कुछ नया किया जा सकता था जिससे यह और भी दिलचस्प हो सकती थी।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *