samacharvideo: केरल में हुयी हिंसा पर अब राजनीति बड़ गयी है। साथ ही आरएसएस सक्रिय हो गया है और केरल के वामपंथियों को सबक सिखाने के लिए तैयार हो गया है। इस संबंध में rss के एक नेता ने खुले तौर पर वामपंथियों और केरल मुख्यमंत्री पर अपनी भड़ास निकाली है साथ ही धमकी भी दी है।
यह भी पढ़े: आखिर कौन है ‘गुरमेहर कौर’, जिसके नाम पर आज पुरे इंटरनेट और देश की राजनीति में खलबली मची हुई है !



यह भी पढ़े: राष्ट्रपति का बड़ा बयान, ‘असहिष्णु भारतीयों के लिए भारत में कोई जगह नह !’

आरएसएस नेता डॉक्टर चंद्रावत जो की उज्जैन के रहने वाले है, ने केरल के मुख्यमंत्री और कम्युनिस्ट नेता पिनरई विजयन पर खुला बयान दिया है। और कहा है कि,  केरल मुख्यमंत्री का सिर काटकर लाने वाले को 1 करोड़ रुपए का इनाम दिया जाएगा। साथ ही उन्होंने मुख्यमंत्री पर आरएसएस कार्यकर्ताओं की हत्या करवाने का आरोप भी लगाया है।

यह बात डॉक्टर चंद्रावत ने ‘केरल में मार्क्सवादियों के अत्याचार के विरुद्ध विशाल धरना प्रदर्शन’ में कही। इस संबंध में चंद्रावत का एक वीडियो भी वायरल हुआ है जिसमे उन्होंने कहा कि ‘हत्या का दोषी वो गद्दार समझता है कि हिंदुओं के खून में गौरव नहीं है, वो जज्बा नहीं है। मेरे पास इतनी संपत्ति है, 1 करोड़ से ज्यादा का घर है। मैं डॉक्टर चंद्रावत इस मंच पर यह घोषणा करता हूं, जो मुझे विजयन का सिर काटकर ला देगा उसके नाम मैं अपना मकान और संपत्ति कर दूंगा। लेकिन ऐसे गद्दारों को इस देश के अंदर रहने का कोई अधिकार नहीं है। लोकतंत्र की हत्या करने का कोई अधिकार नहीं है।’

इस वीडियो में उन्होंने गोधरा का जिक्र करते हुए वामपंथियों को चेतावनी दी जिसमे उन्होंने कहा कि, ‘भूल गए क्या गोधरा को… 56 मारे थे। 2000 कब्रिस्तान में चले गए। इसी हिन्दू समाज ने उन्हें अंदर घुसा दिया। वामपंथियो सुन लो! तुमने 300 प्रचारक और कार्यकर्ताओं की हत्या की है.. इसके बदले में हम भारत माता को 3 लाख नरमुंडो की माला पहनाएंगे।’

गौरतलब है कि, केकेरल में लंबे समय से आरएसएस और भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या हो रही है। साथ ही राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ-भाजपा और सी.पी.एम. के कार्यकर्ताओं के बीच हिंसा चल रही है। पिछले महीने ही भाजपा नेता संतोष की हत्या हुई थी  जो की मई  2016 से राज्य में विजयन सरकार बनने के बाद से आठवीं हत्या थी। 

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *